मलाड पश्चिम का एरंगल बीच बनेगा पर्यटन केंद्र

Published: 25/09/2020 10:56 PM
मलाड पश्चिम का एरंगल बीच बनेगा पर्यटन केंद्र

उत्तर मुंबई के सांसद गोपाल शेट्टी (Gopal Shetty) के प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए राज्य के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने मलाड पश्चिम के समुद्री किनारों का सौंदर्याकरण करने के साथ यहां के एरंगल बीच को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया है.

ठाकरे ने गत दिनों स्थानीय विधायक और कैबिनेट मंत्री असलम शेख के साथ मढ़, मार्वे, अक्शा बीच और एरंगल समुद्री किनारों का जायजा लिया. मलाड पश्चिम के समुद्री पट्टे का लाभ पर्यटकों एवं स्थानीय नागरिकों को दिलाने के उद्देश्य से सांसद गोपाल शेट्टी ने तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को 6 दिसंबर 2015 तथा 25 दिसंबर 2015 को पत्र लिखने के बाद तत्कालीन पर्यटन मंत्री को भी वर्ष 2016 तथा 2017 में लगातार पत्र लिखा था.

गोपाल शेट्टी ने बताया कि मलाड उपनगर का पश्चिमी छोर समुद्र के विशाल किनारे से लगा हुआ है. एरंगल समुद्री तट की जमीन महाराष्ट्र पर्यटन विकास निगम के तहत आती है. एरंगल समुद्री तट के आसपास अक्सा समुद्री किनारा और मार्वे समुद्री किनारा भी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है. बड़ी संख्या में लोग दूर-दूर से इन समुद्री तटों पर घूमने फिरने आते हैं. यदि एरंगल बीच के एमटीडीसी के अधीन प्लॉट पर पर्याप्त सुविधाओं से लैस पर्यटन केंद्रों का निर्माण सरकार करे तो सरकार को आर्थिक लाभ मिलेगा, साथ ही पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र भी बनेगा.

बड़ी संख्या में पर्यटकों की आवाजाही होने से इन तीनों समुद्री किनारों पर बसने वाले स्थानीय भूमिपुत्रों को रोजगार के नए अवसर प्राप्त होंगे. एरंगल बीच पर लगने वाले प्रसिध्द मेले को भी देखने के लिए विरार, वसई, बदलापुर, पालघर से लेकर दक्षिण मुंबई तक के नागरिक आते हैं.

यदि पर्यटन केंद्र की सुविधाओं का विकास कोई हो तो नागरिक इसका भरपूर लाभ उठाएंगे. पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे तथा पालक मंत्री एवं स्थानीय विधायक असलम शेख को भी शेट्टी ने पत्राचार एवं प्रत्यक्ष मुलाकात कर एरंगल बीच को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने की बात की थी. जिस पर संज्ञान लेते हुए पर्यटन विभाग ने एरंगल बीच को पर्यटन केंद्र के रूप में बनाने का फैसला किया है.