लोकल स्टेशनों पर लगाए जाएंगे QR आधारित गेट

Published Date : 20/01/2021 07:00 AM
लोकल स्टेशनों पर लगाए जाएंगे QR आधारित गेट

मध्य रेलवे (CR) ने गुरुवार को जानकारी दी कि छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT station) और 14 उपनगरीय (लोकल) स्टेशनों पर एक क्यूआर (QR) कोड आधारित गेट लगाया जाएगा.

मुंबई मध्य रेलवे मंडल के प्रबंधक शलभ गोयल ने कहा कि आवश्यक और आपातकालीन सेवा के कर्मचारियों को ट्रैन से यात्रा करने के लिए जारी क्यूआर कोड आधारित ई-पास की जांच के लिए सीएसएमटी (CSMT) और अन्य स्टेशनों पर स्कैनर लगाए गए हैं.

उन्होंने कहा कि अब तक 3.40 लाख में से 1.80 लाख आवश्यक और आपातकालीन सेवा के कर्मचारियों को क्यूआर कोड-आधारित कार्ड जारी किए गए हैं और शेष कर्मचारियों को जल्द ही कार्ड जारी किए जाएंगे. मध्य रेलवे ने 2-3 महीने के भीतर सीएसएमटी (CSMT) की लंबी दूरी के टर्मिनस पर क्यूआर कोड आधारित स्वचालित गेट लगाने की योजना बनाई है.

उन्होंने कहा कि टिकटों पर क्यूआर कोड या मोबाइल पर प्राप्त कोड को स्कैन करके, यात्री स्टेशन पर लगे QR आधारित गेट के माध्यम से प्रवेश कर सकते हैं, ये सब सुबह और शाम के समय लोकल स्टेशनों पर भीड़भाड़ कम करने के लिए है. सीआर ने गुरुवार से हार्बर लाइन पर दो उपनगरीय सेवाएं शुरू की है जो शहर को नवी मुंबई तक जोड़ती है.

उपनगरीय ट्रेन सेवाएं जून से केवल आपातकालीन और आवश्यक सेवा कर्मचारियों के लिए फिर से शुरू हुईं है. वर्तमान में मध्य रेलवे हर दिन 350 से अधिक लोकल ट्रैन को संचालित कर रहा है.

मध्य रेलवे ने कहा कि NEET और JEE परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को उपनगरीय लोकल पर यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी यदि राज्य सरकार उन्हें यात्रा करने की अनुमति देती है.

उन्होंने कहा कि मध्य रेलवे ने कोरोनोवायरस रोगियों के लिए अलग-अलग कोचों में 125 कोचों को संशोधित किया है और प्रत्येक कोच पर 13,500 रुपये खर्च किए हैं, लेकिन राज्य सरकारों से अभी तक इसकी कोई मांग नहीं हुई है.

गोयल ने यह भी आश्वासन दिया कि जब हार्बर लाइन प्लेटफार्मों को पी डी’मेलो रोड की ओर स्थानांतरित कर दिया जाएगा तो कोई भी स्टेशन नहीं छोड़ा जाएगा.

Also Read: ऑफिस का समय बदलने से लेकर कई शर्तों के साथ शुरू हो सकती है लोकल ट्रैन

You May Like