दिवाली से पहले मुंबई की लोकल ट्रेन शुरू होने की संभावना नहीं

Published: 25/09/2020 10:22 PM
दिवाली से पहले मुंबई की लोकल ट्रेन शुरू होने की संभावना नहीं

मुंबई की लाइफलाइन लोकल ट्रेन जिसे 22 मार्च से जनता के लिए निलंबित कर दिया गया ये फैसला कोरोना महामारी को देखते हुए लिया गया था. महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या 10 लाख के पार पहुंच गई है. वहीं मुंबई में 1.65 लाख मरीज संक्रमित हुए है. लोकल ट्रैन इस समय केवल आवश्यक सेवा से जुड़े लोगों के लिए शुरू है. आम लोग लोकल ट्रेन में सफर नहीं कर सकते और नवंबर से पहले फिर से शुरू होने की संभावना नहीं है.

रेलवे अधिकारियों ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण 22 मार्च को निलंबित की गई ट्रेन सेवाओं को उनकी पूर्ण क्षमता के साथ दिवाली से पहले और मध्य नवंबर तक फिर से शुरू करने की संभावना नहीं है.

15 जून को, आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए सीमित संख्या में लोकल ट्रेन सेवाएं फिर से शुरू हुईं. मध्य और पश्चिम रेलवे मार्गों पर प्रतिदिन लगभग 700 ट्रेन सेवाएं संचालित की जा रही हैं.

एक रेलवे अधिकारी ने कहा “जनता के लिए लोकल ट्रेन सेवाओं को फिर से शुरू करने के बारे में कोई चर्चा नहीं की गई है. रेलवे स्टेशनों पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए QR कोड का परीक्षण किया जा रहा है. पूरी ताकत से ट्रेन सेवाएं को दीवाली से पहले फिर से शुरू करने की संभावना नहीं है.

ट्रेन सेवाओं के फिर से शुरू होने में देरी से यात्रियों में नाराजगी है.

यात्री संघों ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हस्तक्षेप की मांग की

मुंबई रेल प्रवासी संघ के अध्यक्ष मधु कोटियन ने कहा “हम महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिले, जिन्होंने हमें आश्वासन दिया कि इस मुद्दे को उठाया जाएगा. राज्य सरकार से अब तक कोई संवाद नहीं हुआ है. लोग नाराज हैं क्योंकि अनलॉक दिशा-निर्देशों के तहत, मुंबई को धीरे-धीरे फिर से खोला जा रहा है, लेकिन लोकल ट्रेन सेवाएं अभी भी बंद हैं. यात्रियों का यात्रा करने में बहुत मुश्किलों का सामना करना पढ़ रहा है. हमने सीएम ठाकरे को उनके तत्काल हस्तक्षेप के लिए लिखा है. यदि वह जवाब नहीं देता है, तो हम रेलवे पटरियों पर एक आंदोलन शुरू करेंगे.”

टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च (TIFR) के कोविद -19 मॉडल और बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) के अधिकारियों को सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि मुंबई में ट्रेन सेवाओं को 1 नवंबर से फिर से शुरू किया जा सकता है. अगर लोक्ला ट्रैन को 1 नवंबर से पहले शुरू किया गया तो मंबई में कोरोना की रफ़्तार दो गुनी हो जाएगी. रिपोर्ट के अनुसार 1 नवंबर तक मुंबई में कई लोग बीमार से उबर चुके होंगे.