मुंबई लोकल ट्रेन: यात्रियों द्वारा की गई मांग मान्य, अंतिम फैसला मुख्यमंत्री के पास

Published: 24/09/2020 03:02 PM
मुंबई लोकल ट्रेन: यात्रियों द्वारा की गई मांग मान्य, अंतिम फैसला मुख्यमंत्री के पास

मुंबई के नालासोपारा स्टेशन पर लोगों ने मांग की कि उन्हें मुम्बई लोकल ट्रेन (Mumbai local train) सेवाओं का उपयोग करने की भी अनुमति दी जानी चाहिए. जिसके बाद, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि सामान्य यात्रियों की मांग मान्य है, लेकिन इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय महराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव के पास है.

मुंबई में मीडिया से बात करते हुए, टोपे ने कहा कि स्थानीय ट्रेन सेवा का उपयोग करने के लिए आम यात्रियों द्वारा की गई मांग सही है, लेकिन यात्रा करते समय सोशल डिस्टेंसिंग असंभव है.

कोरोना (COVID-19) महामारी को देखते हुए, केवल आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले लोगों के लिए स्थानीय ट्रेन सुविधा की अनुमति दी गई है.

सामान्य यात्रियों ने अपना आंदोलन करने के लिए बुधवार को सुबह करीब 8.15 बजे नालासोपारा (Nallasopara Station) में इकट्ठा हुए और मांग की कि आम लोगों को लोकल ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति दी जाए. ऐसा तब हुआ जब बस स्टॉप पर MSRT बस नहीं पहुंची. हर दिन, लगभग 100 से 150 बसें गैर-आवश्यक क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों के लिए नालसोपारा बस स्टैंड जाती हैं. हालांकि, यात्रियों को यह बताया गया कि कोई भी बस आज से नहीं चलेगी जिसके परिणामस्वरूप आंदोलन हुआ और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया गया था.

राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने कहा, यात्रियों द्वारा की गई मांग वैध है लेकिन कोरोना वायरस की महामारी के मद्देनजर आम यात्रियों को लोकल ट्रेनों (Mumbai local train) में यात्रा की अनुमति देना जोखिम भरा और खतरनाक हो सकता है. हालांकि, अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री उद्भव ठाकरे के पास है. राजेश टोपे ने आगे कहा कि महाराष्ट्र सरकार ‘मिशन बिगेन अगेन’ के तहत जिम और शॉपिंग मॉल को फिर से खोलने की योजना बना रही है. अंतिम निर्णय जल्द ही घोषित किया जाएगा.

Also Read: Corona Virus Maharashtra: महाराष्ट्र में कोरोना के 10 हजार से ज्यादा नए मामले