मुंबई में लगी भीषण आग से संगम नगरी के अरुण तिवारी की 19वें मंजिल से गिरकर हुई मृत्यु

मुंबई के करी रोड (Currey Road) स्थित वन अविघ्ना इमारत में लगी भीषण आग में उसमें रहने वाले सभी लोग तो सुरक्षित निकल गए, लेकिन दूसरों को बचाने के चक्कर में इलाहाबाद के अरुण तिवारी की 19वें मंजिल से गिरकर मृत्यु हो गई।
आपको बता दें कि अरुण तिवारी की जान दूसरों को बचाने में गई है।यूपी के इलाहाबाद के अरुण तिवारी पर पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी। अरुण ने देखा कि कोई व्यक्ति घर में फंसा है तो उन्होंने।यह देखने के लिए अंदर गए और फिर आग में घिरने के बाद बालकनी में पहुंच गया। वहां आग की लपटों से बचने के लिए वह लटक गए, फिर उसका हाथ छूट गया और वह 19 फ्लोर से नीचे गिर गया।दुर्भाग्य से दूसरों को बचाने के लिए गए इमारत के सिक्युरिटी गार्ड अरुण तिवारी की इमारत से गिरकर मौत हो गई। मृतक अरुण के सहकर्मियों ने बताया कि आग लगने के बाद वह 19वीं मंजिल पर स्थित उस कमरे में भागे, उन्हें लगा कि उसमें रहने वाला परिवार फंस गया है। लेकिन वह आग में घिर गए और बचने के लिए बालकनी पर जा कर लटक गए, कुछ समय तक लटकने के बाद उनका हाथ छूट गया और वह नीचे गिर गए। अरुण को तुरंत केईएम हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

अरुण की मौत के साथ ही एक परिवार का सहारा छिन गया। मृतक अरुण तिवारी उत्तरप्रदेश के प्रयागराज स्थित हथिगनी गांव के निवासी थे और 10 साल से मुंबई में बतौर सिक्योरिटी गार्ड कार्यरत थे। पिछले 5 साल से वह वन अविघ्ना इमारत में सिक्योरिटी गार्ड की सेवा दे रहे थे। उनके सहकर्मी शैलेंद्र के अनुसार दोपहर में आग लगी, तो अरुण और अन्य सहकर्मी रेस्क्यू के लिए 19 फ्लोर पर भागे। इस दौरान हमने 3 लोगों को रेस्क्यू किया।

Report by: Brijendra Singh

Also read: शैतान का अवतार बताकर महिला को किया गया नग्न ।

You May Like

%d bloggers like this: