बाढ़ की परिस्थिति की तैयारी में जुटे में जिला कलेक्टर

वर्तमान में जिले में अच्छी बारिश (Rain) हो रही है और जिले में भारी बारिश और बाढ़ की स्थिति में इसके समाधान के लिए तैयार रहना चाहिए।
जिला कलेक्टर राहुल रेखावर ने कहा कि आपदा प्रबंधन के लिए सभी संबंधित एजेंसियां ​​विस्तृत योजना तैयार करें.

जिला कलेक्टर श्री रेखावर ने कहा कि मानसून के दौरान कुछ सड़कें और पुल जलमग्न हो सकते हैं और यातायात बाधित हो सकता है। ऐसे में भी कुछ नागरिक पुल को पार करने की कोशिश करते हैं।
हादसों को रोकने के लिए बाढ़ प्रभावित सड़कों पर बैरिकेडिंग कर तत्काल बंद कर देना चाहिए।साथ ही ऐसे रूट पर ट्रैफिक को वैकल्पिक रूट पर डायवर्ट किया जाए। सुनिश्चित करें कि जिले में सीपेज झीलें अच्छी स्थिति में हैं।

बाढ़ की स्थिति में प्रभावित ग्रामीणों को सूचना (नोटिस/अलर्ट) समय पर पहुंचाई जानी चाहिए। एमएसईडीसीएल को बाढ़ की स्थिति में आवश्यक सामग्री का रखरखाव और मरम्मत करनी चाहिए।
आवश्यकतानुसार जनशक्ति और अतिरिक्त सामग्री तैयार करें। भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण बिजली गुल होने की स्थिति में तत्काल बिजली आपूर्ति बहाल करने के लिए आवश्यक उपकरण और जनशक्ति तैयार रखें।

बाढ़ की स्थिति में बाढ़ आने की संभावना वाले गांवों में राहत कार्य पहुंचाने के लिए ग्रामवार योजना तैयार करें। इन गांवों के नागरिकों को पर्याप्त भोजन और दवा का स्टॉक उपलब्ध कराया जाना चाहिए।
यह सुनिश्चित करने के लिए सख्त योजना बनाई जानी चाहिए कि बाढ़ की स्थिति में कोई जानवर न बहे।

शिविर पशुओं के लिए पर्याप्त चारा, गीला और सूखा चारा, दवा का स्टॉक। भूस्खलन की मरम्मत करें।यह सुनिश्चित करने के उपाय करें कि भूस्खलन से नागरिक घायल न हों।बाढ़ में फंसे लोगों की मदद के लिए प्रशिक्षित बचाव दल तैयार रहें। मानसून काल में स्वास्थ्य सुविधाओं, स्वच्छ जल आपूर्ति के उपाय करें।

जिला कलेक्टर श्री रेखावार ने कहा कि ऐसा करते समय कोरोना प्रकोप की स्थिति को ध्यान में रखते हुए सुरक्षित दूरी, मास्क, सेनेटाइजर आदि का ध्यान रखना चाहिए।
जिला पुलिस अधीक्षक शैलेश बालकवड़े ने कहा कि बाढ़ की स्थिति में राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य समेत अन्य संबंधित विभाग बाढ़ प्रभावित गांव में समन्वय से काम करें।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजय सिंह चव्हाण ने जिला परिषद के विभिन्न विभागों द्वारा भारी बारिश के कारण आपात स्थिति में तत्काल सहायता प्रदान करने के लिए की गई तैयारियों की जानकारी दी.

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी प्रसाद संकल्प ने संभावित बाढ़ की स्थिति को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों की विस्तृत जानकारी दी.
राजस्व, लोक निर्माण, जल संसाधन, स्वास्थ्य, कृषि, नगर निगम, जिला परिषद, एमएसईडीसीएल, महाराष्ट्र राज्य परिवहन निगम, बीएसएनएल समेत अन्य विभागों के अधिकारियों ने अपने-अपने विभागों द्वारा की गई तैयारियों की जानकारी दी.

Report by : Rajesh Soni

Also read : नवी मुंबई में दो लोगों की तैरते समय हुई नदी में डूबकर मौत

You May Like