ताजा खबरेंपॉलिटिक्स

अब दुकानदारों को तय करना चाहिए कि दुकान के बोर्ड बदलना ज्यादा महंगा है या शीशा?; मनसे की कड़ी चेतावनी

65
अब दुकानदारों को तय करना चाहिए कि दुकान के बोर्ड बदलना ज्यादा महंगा है या शीशा?; मनसे की कड़ी चेतावनी

Shop Boards: मनसे आक्रामक; दुकानों पर लगाएं मराठी बोर्ड वरना…; दुकानदारों को सीधी चेतावनी. मनसे नेता संदीप देशपांडे ने आक्रामक रुख अपना लिया है. उन्होंने मुख्यमंत्री शिंदे से भी गुहार लगाई है. देशपांडे ने आख़िर क्या कहा? पढ़ना…

एमएनएस ने दुकानों पर अंग्रेजी साइनबोर्ड हटाकर मराठी साइनबोर्ड लगाने को लेकर आक्रामक रुख अपनाया है. मनसैनी सड़कों पर उतर रहे हैं और दुकानों में तोड़फोड़ कर रहे हैं. मनसे नेता संदीप देशपांडे ने अंग्रेजी में साइन लगाने वाले दुकान मालिकों को चेतावनी दी है। हमारे खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बजाय उन दुकानों पर कार्रवाई करें जो अंग्रेजी बोर्ड लगाते हैं।’ धतूर माथुर उन पर बारीक पिटाई की कार्रवाई करते हैं. ये लोग अपनी दुकान पर मराठी में साइन नहीं बनाएंगे. इसलिए उनके बोर्डों को बुलडोजर से गिरा दो। बुलडोजर सिर्फ उत्तर प्रदेश में चलना चाहिए, महाराष्ट्र में नहीं. संदीप देशपांडे ने पूछा है कि सरकार इसे क्यों नहीं चला रही है.

मनसे मराठी पार्टी पर नियंत्रण नहीं रखेगी. संदीप देशपांडे ने चेतावनी दी है कि टूटे शीशे के लिए हम जिम्मेदार नहीं हैं, भले ही बोर्ड बदल दिया गया हो. प्रतिदिन ठीक है. बोर्डों को बुलडोजर से हटा दें। जल्द ही उनके बोर्ड मराठी में होंगे. कार्रवाई ऐसी होनी चाहिए कि सरकार का डर कम हो जाए। अगर वे ऐसा नहीं कर सकते. तो मनसे ऐसा करेगी. देशपांडे ने हमसे यह भी अपील की है कि हमारे खिलाफ मामला दर्ज न करें.’

मनसे मराठी पार्टी पर नियंत्रण नहीं रखेगी. संदीप देशपांडे ने चेतावनी दी है कि बोर्ड बदलने पर भी टूटे शीशे के लिए हम जिम्मेदार नहीं हैं. प्रतिदिन ठीक है. बोर्डों को बुलडोजर से हटा दें। जल्द ही उनके बोर्ड मराठी में होंगे. कार्रवाई ऐसी होनी चाहिए कि सरकार का डर कम हो जाए। अगर वे ऐसा नहीं कर सकते. तो मनसे ऐसा करेगी. देशपांडे ने हमसे यह भी अपील की है कि हमारे खिलाफ मामला दर्ज न करें.'(Shop Boards)

यदि महाराष्ट्र, एक कानून-प्रेमी देश, यहां कानून का पालन नहीं करता है, तो मनसे जानता है कि यह कैसे करना है। हम इंतजार कर रहे हैं कि सरकार कार्रवाई करेगी, उन्होंने कार्रवाई की अन्यथा हमारे तरीके से कार्रवाई की जायेगी. तो फिर हमें दोष मत दो. दोनों उपमुख्यमंत्री चतुर हैं क्योंकि मुख्यमंत्री को नियम मालूम हैं. हम उन्हें कानून सिखाएंगे, वे कानून जानते हैं।’ देशपांडे ने यह भी कहा कि उन्हें कार्रवाई करनी चाहिए

Also Read: शरद पवार समूह कितनी लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगा?; जयंत पाटिल ने बताया आंकड़ा

WhatsApp Group Join Now

Recent Posts

Advertisement

ब्रेकिंग न्यूज़

x