दही हांडी को लेकर राज ठाकरे-उद्धव ठाकरे आमने-सामने

महाराष्ट्र में (Maharashtra) दही हांडी (Dahi-Handi) आयोजन और जनआशीर्वाद यात्रा को लेकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना और ठाकरे सरकार आमने-सामने आ चुकी है। दोनों पार्टियों के नेता एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप कर रहे हैं। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज पहली बार केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की जनआशीर्वाद यात्रा पर हल्ला बोल किया। सीएम ठाकरे ने कहा कि, ‘कैसा आशीर्वाद? जनता के जीवन को खतरे में डाला जा रहा है।

वहीं अब जनआशीर्वाद यात्रा को लेकर मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने भी ठाकरे सरकार को आड़े हाथों लिया है। त्योहारों पर बैन, राज्य में राजनीतिक यात्राओं को अनुमति, त्योहारों से कोरोना फैलता है। यात्रा और आंदोलनों से कोरोना नहीं फैलता है।

वहीं उद्धव ठाकरे ने कहा कि, ‘जो आज हमारी सरकार को हिन्दू विरोधी बोल रहे हैं। इस सरकार को यह त्योहार चलते है और ये नहीं। उन्हें केंद्र सरकार का पत्र देखना चाहिए। जिसमें साफ-साफ गणेश चतुर्थी और दही हांडी पर सावधानी बरतने की हिदायत दी गई है। हमारी सरकार किसी भी धर्म और किसी भी त्योहार के विरोध में नहीं है। हम सिर्फ कोरोना के विरोध में है। जिनको भी आंदोलन करना वो कोरोना के विरोध में आंदोलन करें।

राज ठाकरे (Raj Thackery)  ने आगे दही हांडी आयोजन को लेकर कहा कि, ‘हमारे कार्यकर्ताओं के ऊपर बहुत ज्यादा केस हैं। यह सब दुर्भावना से किया जा रहा है। यह विरोधी दल में होते तो, क्या करते?

वहीं सीएम (CM) ठाकरे ने दही हांडी आयोजन को लेकर मनसे (MNS) नेताओं पर तीखा निशाना है। उन्होंने कहा कि, ‘कुछ लोगों ने कोरोना नियमों को तोड़कर दही हांडी का आयोजन किया। यह कोई स्वतंत्रता की लड़ाई नहीं है। सरकार ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए नियम बनाए हैं। यह कोई फ्री में कोरोना बांटने का सरकारी कार्यक्रम नहीं है ।

वहीं कोरोना की तीसरी लहर को लेकर भी एमवीए सरकार पर राज ठाकरे ने तीखा हमला बोला है। राज ने कहा कि, ‘आपको कहीं तीसरी लहर दिखाई दे रही है। ऐसे ही सिर्फ इमारतों को सील कर देना।वहीं उद्धव ठाकरे ने भाजपा  (BJP) की जनआशीर्वाद यात्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘लोग जिये या मरें, हमें बस राजनीति करनी है।

 

Reported By- Rajesh Soni

Also Read –  संजय राउत ने दही हांडी को लेकर मनसे पर बोला तीखा हमला, कहा-‘कुछ राजनीतिक पार्टी का बेस नहीं….’

You May Like