जीडीपी -23.9%, 40 साल में भारतीय अर्थव्यवस्था में अब तक की सबसे बड़ी गिरावट

Published: 24/09/2020 01:46 PM
जीडीपी -23.9%, 40 साल में भारतीय अर्थव्यवस्था में अब तक की सबसे बड़ी गिरावट

सरकार ने लॉकडाउन (Lockdown) तिमाही यानी अप्रैल-जून 2020 के आर्थिक विकास दर यानी जीडीपी (GDP) आंकड़े जारी किए. भारत का जीडीपी ग्रोथ रेट -23.9 फीसदी दर्ज की गई. जीडीपी में पिछले 40 साल में अब तक की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज कि गई.

कोरोना (Corona virus) महामारी से प्रभावित, भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में 23.9 प्रतिशत कम हो गया है.

राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (NSO) की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार “सकल घरेलू उत्पाद का 2019-20 की Q1 में 35.35 लाख करोड़ रुपये से घटकर 2020-21 की पहली तिमाही में 26.90 लाख करोड़ रुपये हो गया है, जो Q1 2019-20 में 5.2 प्रतिशत वृद्धि की तुलना में 23.9 प्रतिशत का संकुचन दिखा रहा है.

राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय के आंकड़े के मुताबिक 2020-21 की पहली तिमाही में में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में में सकल मूल्य वर्धन (GVA) – 39.3 फीसदी रहा. कंस्ट्रक्शन सेक्टर में यह -50.3 फीसदी रहा है. बिजली में यह -7 फीसदी है. उद्योग में GVA -38.1 फीसदी और सर्विस सेक्टर में -20.6 फीसदी रहा. केवल कृषि क्षेत्र की ग्रोथ में 3.4 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. होटल उद्योग में 47 प्रतिशत, विनिर्माण 39.3 प्रतिशत और खनन में 23.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई. एकमात्र क्षेत्र जो मंदी से बचने में कामयाब रहा, वह कृषि था, जिसने 3.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की.

जीडीपी की वृद्धि के आंकड़े अप्रैल, मई और जून के महीनों में हैं – जब कोरोनोवायरस महामारी के कारण देश में एक सख्त राष्ट्रीय लॉकडाउन किया गया था.

देशभर में लॉकडाउन की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च 2020 को 21 दिनों के लिए की थी, जिसके बाद 19 दिनों के लिए और लॉकडाउन को बड़ा दिया गया था.

माना जाता है कि रादेशभर में लॉकडाउन के परिणामस्वरूप जून तिमाही के दौरान अर्थव्यवस्था को सबसे अधिक नुकसान उठाना पड़ा है.