महाराष्ट्र में सोमवार से खुलेंगे मंदिर और अन्य पूजा स्थलों के दरवाजे: उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र में सोमवार से खुलेंगे मंदिर और अन्य पूजा स्थलों के दरवाजे: उद्धव ठाकरे

मंदिर और अन्य पूजा स्थलों (Worship Places) को सोमवार से महाराष्ट्र में फिर से खोलने की अनुमति आखिर कार उद्धव सरकार ने दे दी. राज्य सरकार ने कहा है कि वह जल्द ही दिशा निर्देश जारी करेंगे जिसका उन्हें पालन करना होगा. (Temples To Reopen In Maharashtra From Monday)

मार्च के बाद से महाराष्ट्र (Maharashtra) सहित अन्य राज्यों में मंदिर और अन्य पूजा स्थलों को बंद कर दिया गया.

पिछले हफ्ते, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने राज्य की जनता को दीवाली की शुभकामनाएं देते हुए कहा था कि पूजा स्थल फिर से खुलेंगे.

ठाकरे ने यह भी कहा कि दिवाली के बाद कक्षा 9 से 12 के लिए स्कूलों को फिर से शुरू किया जाएगा, सुरक्षा प्रोटोकॉल के साथ.

मुख्यमंत्री ने कहा कि वे वरिष्ठ नागरिकों के लिए धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने के लिए गए थे, क्योंकि मंदिरों (Temples) में ज्यादा तर वरिष्ठ नागरिक जाते हैं. चिकित्सा विशेषज्ञों का मानना ​​है कि बुजुर्ग लोग जिनकी उम्र 60 से ऊपर है, उनको कोरोना से संक्रमित होने का अधिक खतरा होता है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिशा निर्देश बाद में जारी किए जाएंगे, लेकिन राज्य में पूजा स्थलों का दौरा करते समय मास्क पहनना अनिवार्य होगा. उन्होंने उस पर विशेष जोर दिया और लोगों को चेतावनी दी कि फेस मास्क के बिना पाए जाने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा.

उन्होंने कहा, “लोग मेरी आलोचना कर रहे हैं। मैं आप सभी के लिए इसका सामना करने के लिए तैयार हूं. मैं वरिष्ठ नागरिकों के लिए सतर्क हूं. डॉक्टर के आकड़े बताते हैं कि यदि कोई कोरोना से संक्रमित व्यक्ति बिना मास्क के बाहर निकलता है, तो वह 400 से अधिक लोगों को संक्रमित कर सकता है.”

राज्य में मंदिर को फिर से खोलने के विवाद ने पिछले महीने की शुरुआत में उद्धव ठाकरे और राज्यपाल कोश्यारी के बीच एक बड़ा विवाद खड़ा कर दिया थ. राज्यपाल ने पत्र में मुख्यमंत्री से पूछा कि क्या वह “धर्मनिरपेक्ष” हो गए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं हिंदुत्ववादी हूँ और इसकेलिए मुझे किसी प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं है और सरकार इस मामले पर “सावधानीपूर्वक विचार” करने के बाद ही निर्णय लेगी.

Also read: मुंबई लोकल से जुड़ी बड़ी खबर, राज्य सरकार की इस मांग पर रेलवे ने दिखाया हरी झंडी

You May Like