आदित्य ठाकरे को बचाने के लिए शिवसेना ने कांग्रेस वालों को पगार पर रखा है: नीलेश राणे

Published Date: 02 September 2020 12:01 AM IST
सुशांत केस में आदित्य ठाकरे को बचाने के लिए शिवसेना ने कांग्रेस वालों को पगार पर रखा है: नीलेश राणे

सुशांत सिंह राजपूत मामले (Sushant case) में कांग्रेस ने संदीप सिंह और भाजपा के बीच संबंधों की जांच की मांग की है. इस पर भाजपा के पूर्व सांसद नीलेश राणे (Nilesh rane) ने कांग्रेस की कड़ी आलोचना की है.

नीलेश राणे ने सुशांत के मामले में एक बार फिर महाराष्ट्र सरकार पर हमला किया है.

फिल्म निर्माता संदीप सिंह (Sandeep Singh) के बॉलीवुड में ड्रग रैकेट में शामिल होने की अफवाह है. संदीप की सुशांत से अच्छी दोस्ती थी. सुशांत की मौत के मामले में संदीप का नाम भी जुड़ गया है क्योंकि ड्रग एंगल सामने आया है. फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ का निर्माण करने वाले संदीप के भाजपा नेताओं के साथ दोस्ताना संबंध हैं.

कांग्रेस (Congress) ने यह भी आरोप लगाया है कि संदीप को पिछले साल इसी अवधि में 53 बार महाराष्ट्र भाजपा कार्यालय से कॉल किया गया था. भाजपा कार्यालय से संदीप सिंह से कौन बात करना चाहता है? बीजेपी में उनका हैंडलर कौन है ?, यह एक सवाल कांग्रेस लगातार उठा रही है.

कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कल इसी मुद्दे पर गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात की और संदीप सिंह-भाजपा और ड्रग कनेक्शन की जांच की मांग की. अनिल देशमुख ने भी जवाब दिया कि कांग्रेस की मांग से सीबीआई अधिकारियों को अवगत कराया जाएग.

नीलेश राणे ने इस पृष्ठभूमि पर ट्वीट किया है. नीलेश राणे लगातार इस मुद्दे पर महाराष्ट्र सरकार पर हमला कर रहे हैं और पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे (Aaditya Thackeray) पर उंगली उठा रहे हैं. उन्होंने आदित्य ठाकरे का नाम लेकर कांग्रेस पर सीधा निशाना साधा है. सुशांत सिंह के मामले में, शिवसेना (Shivsena) ने आदित्य ठाकरे को बचाने के लिए कुछ कांग्रेसियों को पगार पर रखा है. हर दिन कांग्रेसी उठते हैं और संदीप सिंह और भाजपा के बीच संबंध तलाशते हैं. नीलेश ने एक ट्वीट में कहा, यहां तक ​​कि मीडिया दीशा सालियन और सुशांत मामलों में असली अपराधियों को ढूंढना के बजाय और फालतू विषय में उलझ गई है.

Also Read: लोकल स्टेशनों पर लगाए जाएंगे QR आधारित गेट