कांग्रेस नेता ने ठाकरे सरकार की लॉकडाउन की रणनीति को करार दिया ‘दोषपूर्ण’

महाराष्ट्र सरकार कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के कारण राज्य में तीन हफ्तों का सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाने का विचार कर रही है। लेकिन अभी तक यह फैसला लिए भी नहीं गया है, पर इसका विरोध शुरू हो गया है। इसी बीच मुम्बई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने संपूर्ण लॉकडाउन का विरोध करते हुए ठाकरे सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने महाराष्ट्र सरकार की लॉकडाउन की रणनीति को दोषपूर्ण करार दिया है।

निरुपम ने महाविकास आघाडी सरकार पर ट्विटर के माध्यम से निशाना साधते हुए लिखा कि, ‘मुंबई के अस्पतालों में बेड की भारी क़िल्लत है। रेमेडेसीवीर जैसी दवाइयों के लिए लोग दर-दर भटक रहे हैं। अस्सी से ज्यादा वैक्सीन सेंटर बंद हो गए हैं। कोरोना की दूसरी लहर से लड़ने के लिए सरकार के पास एक ही रणनीति है, लॉकडाउन यह दोषपूर्ण रणनीति है।

बता दें कि, दो दिन पहले भी निरुपम ने सरकार द्वारा मुम्बई में बंद कराई गई दुकानों का भी विरोध किया था। उन्होंने सरकार के दुकानों को बंद करने के फैसले को सरासर गलत ठहराते हुए लिखा था कि, ‘सरकार को बार-बार कहा जा रहा है कि कड़ी पाबंदियाँ लगाएँ, लॉकडाउन नहीं। मगर सरकार पाबंदियों को नाम पर सबकुछ बंद कर दे रही है। यह सरासर गलत है। सोमवार से सारे व्यापार चालू होने चाहिए।टाइमिंग वगैरह के लिए नए SOP’s की घोषणा करिए। वरना लोग सड़क पर उतरेंगे।

संजय निरुपम लगातार लॉकडाउन का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कुछ दिन पहले ओशिवारा पुलिस स्टेशन के बाहर व्यापारियों द्वारा लॉकडाउन के विरोध में किये गए शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन में भी हिस्सा लिया था। वहीं निरुपम लॉकडाउन के भय से पलायन कर रहें मजदूरों से भी मुलाकात करने कुर्ला रेलवे स्टेशन पर पहुंचे थे।

Report By : Rajesh Soni

Also Read : दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग IPL की आज से शुरुआत, पहला मुकाबला मुम्बई और बैंगलोर के बीच

You May Like

Breaking News