वेस्टर्न रेलवे ने मुम्बई से सटे पालघर में कोरोना मरीज़ों के लिए पूरी एक ट्रेन को बनाया कोविड अस्पताल

महाराष्ट्र (Maharashtra) और मुम्बई (Mumbai) में कड़े प्रतिबंधों के बावजूद कोरोना (Corona) मरीज़ों के मौत (Death) के आंकड़ों में कोई खासी कमी नहीं आ रही है। हालांकि कोरोना (Corona) के नए मामलों में मुम्बई (Mumbai) समेत महाराष्ट्र (Maharashtra) के 15 जिलों में काफी कमी नजर आई है। अभी भी महाराष्ट्र (Maharashtra) के कई प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन और दवाओं की किल्लत महसूस की जा रही है। जिसके कारण कोरोना मरीजों के परिजनों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जबकि कई मरीज़ों की ऑक्सीजन की कमी के कारण लगातार मौत की खबरें सामने आ रही है। अब महाराष्ट्र सरकार की गुजारिश के बाद पश्चिम रेलवे ने अपनी ट्रेन को कोरोना (Corona) मरीजों के लिए अस्पताल बना। दिया है।

अब इस ट्रेन में कोरोना (Corona) मरीजों का पूरा इलाज हो सकेगा। इस ट्रेन में ऑक्सीजन के साथ-साथ कोरोना (Corona) मरीजों के लिए सभी तरीके की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। जल्द ही हॉस्पिटल ऑन व्हील्स को महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार को सौंप दिया जाएगा। ताकि कोरोना (Corona) मरीजों के इलाज में किसी भी प्रकार की परेशानी और दिक्कत न आने पाए। आपको बता दें कि पश्चिम रेलवे ने महाराष्ट्र के पालघर रेलवे स्टेशन पर यह ट्रेन तैयार की है।

इस ट्रेन के 21 डिब्बों में से 20 डिब्बों को बिना एयर कन्डीशन का रखा गया है। जिनमें मरीजों को एडमिट किया जाएगा और उनका पूरा इलाज डॉक्टर्स की निगरानी में होगा। जबकि एक डिब्बा पूरे तरीके से एयर कंडीशन से लैस है। इस डिब्बे में डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ के रहने के लिए उत्तम व्यवस्था की गई है। प्रत्येक डिब्बे में 16 बेड के साथ-साथ दो ऑक्सीजन सिलेंडर लगाए गए हैं। इस ट्रेन में एक बार में 400 से ज्यादा मरिजों को एडमिट किया जा सकता है। ट्रेन के अंदर मरीजों की जरूरत की हर सुविधा उपलब्ध है।

ट्रेन में इंग्लिश और इंडियन दोनों तरीके के टॉयलेट की व्यवस्था है। रेलवे के कहना है कि अगर इस तरह के आइसोलेशन डिब्बों की भविष्य में जरूरत पड़ती है तो, अतिरिक्त डिब्बे तैयार किये जा सकते हैं। मरीज़ों को गर्मी से राहत देने के लिए हर एक डिब्बे में पांच से छह कूलर लगाए गए हैं। इसके अलावा हर बोगी की छत पर जूट की बोरियों का उपयोग किया गया है। जिन्हें ऊपर से पानी के बौछार से भिगाया जाएगा ताकि गर्मी का असर मरीजों की सेहत पर ना पड़ें।

Report by : Rajesh Soni

Also read : मुम्बई में कोरोना को हराने के लिए BMC घर-घर जाकर टीका लगाएं-मनोज कोटक

You May Like