सांसद नवनीत राणा को जाति प्रमाण पत्र मामले में राहत मिलने से कार्यकर्ता खुश

अमरावती जिले के सांसद नवनीत राणा (Navneet Rana) का जाति वैधता प्रमाण पत्र को मुंबई उच्च न्यायालय ने जाली बताते हुए रद्द कर दिया था। वहीं नवनीत राणा पर दो लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था। जिसके बाद सांसद नवनीत राणा ने सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। वहीं आज सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई हाईकोर्ट के आदेश पर राणा के जाति प्रमाणपत्र पर कोई निष्कर्ष नहीं निकलता तब तक स्टे लगा दी है।

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा सांसद नवनीत राणा के जाति प्रमाण पत्र पर स्टे लगाने के बाद अमरावती शहर में युवा स्वाभिमान के कार्यकर्ताओं ने खुशी जाहिर की है।
आज की सुनवाई की तरफ महाराष्ट्र और युवा स्वाभिमान कार्यकर्ताओं का ध्यान है।

Report by : Rajesh Soni

Also read : 4 जुलाई को निकलने वाले मराठा समाज के मोर्चे में शामिल होंगे जन प्रतिनिधि

You May Like

%d bloggers like this: