भारत पर प्रतिबंध नहीं लगाएगा अमेरिका

जब से भारत और रूस के बीच एस-400 मिसाइल सिस्टम के सौदा हुआ है।तब से लेकर अमेरिका भारत पर काफी आक्रामक रहा है। लेकिन अब ये आशंका जताई जा रही है कि रूस के साथ एस-400 मिसाइल का सौदा करने के चलते अमेरिका भारत पर प्रतिबंध भी लगा सकता था ।लेकिन कई अमेरिकी सांसद भारत को लगातार समर्थन कर रहे हैं। कुछ समय पहले सामने आया था कि डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन सीनेटर मार्क वार्नर और जॉन कॉर्निन ने कहा था कि ‘काउंटरिंग अमेरिका एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस’ जिसके तहत भारत पर प्रस्तावित प्रतिबंधों को लेकर विचार किया जा रहा है, उससे भारत को छूट मिलनी चाहिए। अब भारत के पक्ष में तीन और अमेरिकी सांसदों ने एक संशोधन पेश कर दिया है।
अमेरिका के एक रिपब्लिकन सीनेट का कहना था कि अमेरिकी सांसदों ने चीन के साथ भारत की सुरक्षा स्थिति को मान्यता दे दी है । उन्होंने कहा कि भारत क्वॉड देशों के केंद्र में है जो चीन का मुकाबला करने के लिए आपस में सहयोग कर रहे हैं। भारत एकमात्र ऐसा क्वॉड देश है जो चीन के साथ बॉर्डर साझा करता है, वो एकमात्र सदस्य जिसने चीन के साथ युद्ध में अपने सैनिकों को खोया है।सीनेट ने आगे कहा कि वे भारत के रक्षा हथियारों की खरीद में भी बदलाव देखना चाहते हैं।उन्होंने कहा कि साल 2033-34 तक भी अगर भारत रूस के साथ जा रहा है और क्वॉड के साथ संबंधों को गहरा करने पर खास फोकस नहीं कर रहा है तो मुझे लगता है कि ये एक अलग मुद्दा ही है। इससे पहले अमेरिका की डिप्टी सेक्रेटी ऑफ स्टेट वेंडी शर्मन ने नई दिल्ली में पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा था कि जो भी देश एस-400 का इस्तेमाल करने का फैसला करता है, उन्हें लेकर हमारी नीतियां सार्वजनिक रही हैं। हमें लगता है कि ये खतरनाक है और ये किसी के भी सुरक्षा हितों में नहीं है।हालांकि, इसके बावजूद मैं कहना चाहूंगा कि भारत और अमेरिका के संबंध काफी मजबूत हैं।आपको बता दें कि जबसे भारत ने रूस से एस-400 मिसाइल सिस्टम खरीदने की वजह से अमेरिका ने नैटो के सदस्य देश तुर्की पर प्रतिबंध लगाए थे। ऐसे में, इस बात की आशंका जताई जाती रही है कि अमेरिका भारत पर भी इस तरह के प्रतिबंध लगा सकता है। लेकिन अमेरिका भारत के खिलाफ नरम रुख अपना लिया है।

Report by: Brijendra Sigh

Also read: शिक्षक ने किया नाबालिक से दुष्कर्म ।

You May Like

%d bloggers like this: