महाराष्ट्र में हाथरस जैसी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: सीएम उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र में हाथरस जैसी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: सीएम उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने गुरुवार को कहा कि राज्य में हाथरस जैसी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और महिलाओं के खिलाफ अपराध में लिप्त लोगों से गंभीर रूप से निपटा जाएगा.

14 सितंबर को चार पुरुषों द्वारा बलात्कार किए जाने के कुछ दिनों बाद मंगलवार को उत्तर प्रदेश के हाथरस की 19 वर्षीय दलित महिला की मौत पर देशभर में आक्रोश के बीच मुख्यमंत्री उद्धव का बयान आया है.

उद्धव ठाकरे मीरा-भयंदर वसई-विरार में नवगठित पुलिस कमिश्नरेट के उद्घाटन कर्यक्रम में वीडियो कांफ्रेंस से शामिल हुए थे. वहां संबोधन करते हुए ठाकरे हाथरस गैंगरेप मामले पर बोले, “जब यूपी में घटनाएं घटती हैं, हम आमतौर पर थोड़ी देर के लिए चर्चा करते हैं और फिर भूल जाते हैं। लेकिन महाराष्ट्र में ऐसी घटनाओं को होने नहीं दिया जाएगा.”

मुख्यमंत्री ने कहा, “महाराष्ट्र में हाथरस जैसी घटनाओं को कभी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उत्पीड़न और महिलाओं के खिलाफ किसी भी तरह के अपराध को गंभीर रूप से निपटा जाएगा.”

उन्होंने कहा कि पुलिस का डर होना चाहिए और उन्हें इस क्षेत्र में आपराधिक गतिविधियों को कुचल देना चाहिए.

ठाकरे ने कहा, “पुलिसिंग ऐसी होनी चाहिए कि भले ही पुलिस कर्मी हर जगह मौजूद हों या न हों, लेकिन लोग सुरक्षित महसूस करने चाहिए।.”

मीरा भयंदर और वसई-विरार के लिए एक अलग पुलिस कमिश्नरेट की आवश्यकता लंबे समय से लंबित थी.

राज्य के पुलिस महानिदेशक सुबोध जायसवाल ने कहा कि 1935 के महाराष्ट्र पुलिस मैनुअल को संशोधित नहीं किया गया है और एक नया संस्करण सरकार की मंजूरी के लिए लंबित है.

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि नई पुलिस के गठन का प्रस्ताव पिछली सरकार के दौरान कागजों पर रहा और इसे महा विकास आघाड़ी सरकार ने वास्तविकता में लाया.

गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि नए आयुक्त के लिए जल्द ही 25 करोड़ रुपये आवंटित किए जाएंगे.

Also Read: अनिल देशमुख का योगी पर निशाना, बोले – राज्य में फिल्म सिटी बाद में बनाना, पहले अपराधियों से निपटो

You May Like

%d bloggers like this: