मुंबई: मेयर किशोरी पेडनेकर के केबिन से फाइलें हुई गायब

एशिया की सबसे अमीर महानगर पालिका यानी बीएमसी (BMC) में अजीबोगरीब घटना घटी है। दरअसल, मेयर किशोरी पेडनेकर के कार्यालय से फाइलें गायब होने का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। ये सभी निविदा फाइलें हैं। और क्या इनके गायब होने के पीछे कोई वित्तीय हित है? ऐसा सवाल बीजेपी ने किया है। भाजपा ने यह भी कहा है कि वह इस संबंध में एसीबी में शिकायत दर्ज कराएगी।

बीजेपी ने यह चौंकाने वाला आरोप लगाया है. मिहिर कोटेचा ने कहा है कि ये मलेरिया और डेंगू के उपायों के लिए टेंडर फाइल हैं। ये फाइलें महापौर कार्यालय से गायब हो गई हैं। 14 महीने में 18 बार रिमाइंडर जारी किए जा चुके हैं। मुंबई में डेंगू और मलेरिया का कहर है। लेकिन इन फाइलों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है।बार-बार याद दिलाने के बावजूद मेयर कार्यालय से फाइलें गायब हैं। यह बहुत ही गंभीर मामला है। इसलिए भाजपा ने कहा है कि वह इस संबंध में एसीबी में शिकायत दर्ज कराएगी।

फाइलें मलेरिया और डेंगू के टेंडर से संबंधित थीं। तो इन फ़ाइलों के गायब होने के पीछे कुछ वित्तीय गणित तो नहीं, है ना? क्या ये फाइलें वित्तीय गणित मिलान या विनिमय की कमी के कारण गायब हो गईं? यह सवाल पूछते हुए नगर निगम में वाजे कौन है जिसने इन फाइलों को गायब कर दिया? ऐसा सवाल बीजेपी ने किया है।

हो सकता है कि ये फाइलें वित्तीय कारणों से गायब हो गई हों। इसके बिना फाइलें गायब नहीं हो सकतीं। इसलिए बीजेपी ने कहा है कि एसीबी को इस मामले की तुरंत जांच करनी चाहिए। विधायक मिहिर कोटेचा के नेतृत्व वाली भाजपा आज एसीबी में शिकायत दर्ज कराएगी। इसलिए अंदाजा लगाया जा रहा है कि मेयर किशोरी पेडनेकर की डेंगू-मलेरिया की फाइल गायब होने से परेशानी बढ़ सकती है।

Reported By: Rajesh Soni

Also Read: https://metromumbailive.com/big-bs-wall-tension-action-will-be-taken-on-pratiksha-bungalow/

You May Like

%d bloggers like this: