नितेश राणे का राउत पर पलटवार, कहा-‘उस समय बाथरूम में छिप गए थे’

शिवसेना भवन को फोड़ने के लिए भाजपा और प्रसाद लाड द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा और संजय राउत द्वारा सामना में भाजपा नेताओं की आलोचना करने से पता चलता है कि राज्य में अब शिवसेना के खिलाफ भाजपा की राजनीति जोरों पर है।

भाजपा में बाहर के लोगों को स्थान नहीं मिलता है। अब भाजपा के मूल नेताओं को साइड लाइन कर बाहरी नेताओं को नचाया जा रहा है। इसलिए अब पार्टी का अंत निकट है। ऐसी तीखी आलोचना आज सामना के माध्यम से संजय राउत ने की है।
जिसको लेकरबीजेपी के तेज तर्रार विधायक नितेश राणे ने संजय राउत को सीधी चेतावनी दी है। वहीं राउत पर भी तीखा हमला बोला है। जैसा कि संजय राउत ने सामना के लेख में अन्य दलों से भाजपा में आने वालों नेताओं के लिए ‘बाटगे’ (बंटे हुए लोग) शब्द का इस्तेमाल किया है। अब इसको लेकर नितेश राणे ने राउत पर सीधा निशाना साधा है।

राणे ने कहा कि, ‘महामंडल के सारे पद विशेष लोगों को दिए जा रहे हैं। अब बालासाहेब के वफादार दिखाई नहीं देते हैं। नितेश राणे ने जवाब दिया कि शिवसेना बाटगय यानी (बाहरी लोग) से चल रही है। साथ ही जब नारायण राणे ने सेना छोड़ी थी, तब संजय राउत सामना की बैठक के दौरान बाथरूम में छिपे हुए थे। सामने आते है तो हकलाते हैं। अब धमकी की भाषा बोल रहे हैं। हम किसीके कंधे पर बंदूक नहीं रखते हैं। सेना भवन और बालासाहब के लिए आदर है।

उन्होंने आगे कहा कि, ‘संजय राउत जब लोकप्रभा में थे, तब बालासाहेब के लिए किस भाषा का इस्तेमाल करते थे? नहीं तो मैं प्रेस कांफ्रेंस लेकर कहूंगा कि उन्होंने क्या कहा था? नितेश राणे ने यह भी चेतावनी दी कि संजय राउत जितने में है, उतने में रहें। अन्यथा कुंडली निकालेंगे। शिवसेना को लेकर कोई शक नहीं है। सामने से आलोचना होगी तो, शांत नहीं बैठेंगे। संजय राउत खुद शरद पवार के लिए काम करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि राउत। को शिवसेना से कोई लेना-देना नहीं है।

जब आप प्रसाद लाड के बारे में बात करते हैं, तो आप कहते हैं कि उनको जवाब हमारा शाखा प्रमुख देगा। तो ठेके देते समय ये शाखा प्रमुख कहाँ जाते हैं? आप उन्हें क्या देते हैं?नितेश राणे ने शिवसेना से ऐसा भी तीखा सवाल किये हैं। मुख्यमंत्री को सभी को न्याय दिलाने का प्रयास करना चाहिए। प्रसाद लाड ने स्पष्टीकरण दिया है तो, विषय समाप्त हो गया है। अब बात करते हैं मुंबई की समस्याओं की। नहीं तो, अरे-तू रे की भाषा इस्तेमाल करने में हम भी पीछे नहीं हटेंगे। ऐसी चेतावनी राणे ने दी है।

Report by : Rajesh Soni

Also read : कितना भी झूठ बोल लो, हिन्दू और मराठी जनता शिवसेना के बहकावे में नहीं आएगी-अतुल भातखलकर

You May Like

%d bloggers like this: