नितेश राणे ने अनिल देशमुख के साथ-साथ उद्धव ठाकरे को लिया आड़े हाथों

भाजपा नेता और विधायक नितेश राणे (Nitesh Rane) ने बॉम्बे उच्च न्यायालय द्वारा गृहमंत्री अनिल देशमुख वसूली कांड की जांच सीबीआई को सौंपने के फैसले का स्वागत किया है। वहीं राणे (Nitesh Rane) ने अवैध वसूली कांड में सीएम ठाकरे के रोल की भी जांच की मांग की है।

नितेश राणे (Nitesh Rane)ने अपने ट्वीट में लिखा कि, ‘परमवीर सिंह के आरोपों पर माननीय उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं! गृहमंत्री के पद पर रहते हुए अनिल देशमुख के खिलाफ सीबीआई की जांच संभव नहीं है। उन्हें जल्द से जल्द गृहमंत्री के पद से इस्तीफा देना चाहिए। साथ ही पत्र में यह भी उल्लेख किया गया कि परमवीर सिंह ने वासूली में सीएम का भी उल्लेख किया था।

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में आगे लिखा कि, ‘परमबीर सिंह के पत्र पर सीएम उद्धव ठाकरे ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी या कोई कार्रवाई नहीं की। इसलिए सीबीआई को इस बात की भी जांच करने की आवश्यकता है कि सीएम ने परमबीर की शिकायत का जवाब क्यों नहीं दिया? अब इस कांड में सीएम के रोल की भी जांच होनी चाहिए।

बता दें कि, नितेश राणे वाझे और अनिल देशमुख के अवैध वसूली रैकेट के उजागर होने के बाद से उद्धव सरकार के खिलाफ हमलावर है। कुछ दिन पहले नितेश राणे ने युवा सेना के नेता और ठाकरे परिवार के रिश्तेदार वरुण सरदेसाई पर सचिन वाझे की मदद से 150 करोड़ रुपयों की अवैध वसूली करवाने का गंभीर आरोप लगाया था।

राणे ने दावा किया था कि वरुण सरदेसाई विवादित पुलिस अफसर वाझे के साथ मिलकर हर आईपीएल सीजन में सट्टेबाजों से 150 करोड़ रुपयों की अवैध वसूली करवाते थे। जिसके बाद वरूण सरदेसाई ने नितेश राणे के खिलाफ आपराधिक मानहानि का केस ठोकने की बात कही थी।

Report by : Rajesh Soni

Also read : जनता के सिर लॉकडाउन की टोपी

You May Like

%d bloggers like this: