भारत से आयात रोकने पर पाकिस्तान में चाय की कीमत आसमान के भाव

इस समय पूरे विश्व में अगर देखें तो पाकिस्तान (Pakistan) की महंगाई कमरतोड़ के बराबर हो गई है। पाकिस्तान में महंगाई के चलते लोगों का जीना दूभर हो गया है। पाकिस्तान में पिछले एक साल से बेतहाशा महंगाई देखने को मिली है।ये महंगाई शहरों में ही नहीं बल्कि पाकिस्तान के गांवों में भी जबरदस्त बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।आलम ये है कि पाकिस्तान के लोगों के लिए चाय का स्वाद भी फीका पड़ गया है।अगर पाकिस्तान चाहता तो उसे भारत से सस्ते में चीनी मिल जाती लेकिन उसने इसी साल भारत से आयात करने से इनकार कर दिया है। गौरतलब है कि चाय के दामों में बढ़ोतरी का सबसे ज्यादा नकारात्मक असर छोटे टी शॉप के दुकानों पर पड़ा है ।क्योंकि चाय की कीमत बढ़ने से कई रेग्युलर कस्टमर्स ने चार या तीन कप की जगह तीन या दो कप पीना शुरू कर दिया है। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो महंगाई से परेशान होकर पूरी तरह से चाय पीना ही छोड़ दिये हैं।
आपको बता दें कि पाकिस्तान ने इस साल अप्रैल महीने में भारत से चीनी के आयात को पूरी तरह से बंद कर दिया है। पाकिस्तान का कहना था कि भारत जब तक कश्मीर में आर्टिकल 370 बहाल नहीं करता है तब तक पाकिस्तान चीनी और गेहूं जैसे जरूरी सामानों के इंपोर्ट के लिए भारत को मंजूरी नहीं दे सकता है ।साल 2018 में रिलीज हुई विश्व बैंक की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत-पाकिस्तान अगर वीजा की कठिन पॉलिसी, हाई टैरिफ और जटिल प्रक्रियाओं को दूर कर लेते हैं तो भारत और पाकिस्तान के बीच व्यापार 2 अरब डॉलर्स से बढ़कर 37 अरब डॉलर्स तक जा सकता है।
पाकिस्तान के सुपरस्टार गेंदबाज शोएब अख्तर के शहर रावलपिंडी में तो चाय पीने वाले लोगों का स्वाद ही बिगड़ गया है। यहां एक कप चाय की कीमत 40 रूपए हो चुकी है। पाकिस्तान के एक चायवाले ने कहा कि पहले एक कप चाय की कीमत 30 रूपए थी जो अब बढ़कर 40 रूपए हो चुकी है।

 

Reported By – Brijendra Pratap Singh

Also Read – महाराष्ट्र में 20 अक्टूबर से कॉलेज शुरू, इन छात्रों को मिलेगी अनुमति

You May Like