वीकेंड लॉकडाउन और कड़े प्रतिबंधों के कारण पब्लिक ट्रांसपोर्ट में हुई भीड़ कम

महाराष्ट्र सरकार ने सोमवार से राज्य में वीकेंड लॉकडाउन (Lockdown) और कड़े प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी। जिसका असर यह हुआ कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट में यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या में भारी कमी हुई है। मुम्बई की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेन और शहर की सेकंड लाइफ लाइन माने जाने वाली बेस्ट बसों में लॉकडाउन (Lockdown) और सख्त प्रतिबंधों के चलते यात्रियों की भीड़ में कमी दर्ज की गई है।

मिली जानकारी के अनुसार, पश्चिम और मध्य रेलवे नेटवर्क से यात्रा करने वाले यात्रियों की भीड़ में 7 लाख तक की कमी दर्ज की गई है। जिसमें मध्य रेलवे में तीन लाख और पश्चिम रेलवे में चार लाख यात्री कम हुए हैं।

सोमवार से पहले, मध्य रेलवे से करीब 22 लाख यात्री यात्रा कर रहे थे। वहीं अब 19 लाख यात्री यात्रा कर रहे हैं। बात करें पश्चिम रेलवे की तो, वर्तमान में 18 लाख की तुलना में 14 लाख यात्री इस लाइन से यात्रा कर रहे हैं।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा ब्रेक द चेन मुहिम के अंतर्गत, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, बेस्ट बसों, ऑटो रिक्शा, टैक्सियों सहित विमान सेवाओं में 50 प्रतिशत तक की क्षमता के साथ सेवा शुरू रखने की परमिशन दी है। बसों और बाहरी ट्रेनों में यात्रियों को खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं है।

मुम्बई में बेस्ट बसों के द्वारा यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या में भी भारी कमी देखी जा रही है। मंगलावर को बेस्ट बसों में 23 लाख की तुलना में 20 लाख यात्रियों ने ही सफर किया। मतलब बेस्ट बसों में भी करीब तीन लाख यात्रियों की भीड़ भी कम हुई है।

Report by : Rajesh Soni

Also read : एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कोरोना वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार से किया अनुरोध, कहा-‘सरकार जल्द….’

You May Like

Breaking News