बीएमसी ने मुम्बई में कराई दुकानें बंद, व्यापारियों ने किया जोरदार विरोध

मुंबई के चेंबूर बेस्ट बस चलाते समय ड्राइवर को आया हार्ट अटैक

महाराष्ट्र सरकार द्वारा कोरोना की स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए लागू किए गए दिशानिर्देशों को सख्ती से पालन करवाने हेतु बीएमसी (Best) पूरे तरीके से मुस्तैदी दिखाई दे रही है। इसी वजह से आज सुबह बीएमसी (Best) ने अत्यावश्यक दुकानों को छोड़कर पुलिस की मदद से सभी दुकानों को बंद करा दिया। हालांकि सरकार के इस फैसले का व्यापारियों ने जोरदार विरोध भी किया।

बीएमसी (Best) कमिश्नर आईएस चहल ने मुम्बई के 24 प्रभागों में अधिकारियों को आदेश दिए है कि मंगलवार से दिन में जरूरी सेवाओं की दुकानों को छोड़कर अन्य दुकानों को बंद कराने के लिए इंतजाम किए जाए।

यह फैसला मुम्बई में 30 अप्रैल तक लागू रहेगा। 30 अप्रैल के बाद कोरोना की स्थिति को देखकर आगे का फैसला सरकार करेगी। सरकार के इस फैसले से एक बार फिर मुम्बईकरों की परेशानियां बढ़ने वाली है। वहीं चहल ने मुम्बई में वीकेंड लॉकडाउन को भी सख्ती से लागू कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

बीएमसी ने सभी प्रभागों में दुकान, मॉल, होटल, पार्लर और रेस्टोरेंट के बिजनसमैन एवं व्यापारियों को इन्फॉर्म कर दिया था कि मुम्बई में सोमवार से दिन में भी सभी दुकानें बंद रहेगी। जरूरी सेवाओं में राशन, मेडिकल और दूध की दुकानों को छोड़कर सभी प्रकार की दुकानें बंद रहेगी। लोग नियमों का सही से पालन करें। आज बीएमसी अधिकारियों ने मुम्बई में पुलिस की मदद से दुकानें बंद कराई।

हालांकि इस फैसले का व्यापारियों ने विरोध भी किया है। कुछ दुकानदार सरकार के इस फैसले को लेकर सड़क पर भी उतरकर प्रदर्शन करने लगे। दुकानदारों का कहना है कि सरकार के इस फैसले से हमारे जीवन पर बुरा असर पड़ेगा। व्यापारियों को दुकानें बंद होने से किराया चुकाने और धंधा बिगड़ने का डर सता रहा है।

बीएमसी ने सरकार के इस निर्णय को लेकर दुकानदारों को नोटिस भी भेजा है। वहीं नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ बीएमसी एवं पुलिस नियम के तहत कार्रवाई करेगी। बता दें कि, मुम्बई में सोमवार रात से नाईट कर्फ्यू और 8 बजे के बाद धारा 144 लागू हो जाएगी। जिसके बाद मुम्बई में 5 लोगों के एक साथ जमा होने पर सख्त प्रतिबंध होगा।

Report By

You May Like

%d bloggers like this: