कोर्ट ने वझे को 23 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेजा, वकील ने की सुरक्षित सेल की मांग

मुम्बई पुलिस (MUMBAI POLICE) के विवादित पूर्व पुलिस (MUMBAI POLICE) सब इंस्पेक्टर सचिन वझे को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। अदालत (MUMBAI POLICE) ने वझे को 23 अप्रैल तक ज्यूडिशियल कस्टडी में रखने के आदेश दिए है। इससे पहले वझे राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी NIA की हिरासत में था। वझे ने NIA की कस्टडी में एंटीलिया बम और मनसुख हिरेन की मामले में कई अहम और चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

बता दें कि, दो दिन पहले वझे ने लिखे अपने लेटर में अवैध वसूली कांड में अनिल देशमुख के साथ-साथ महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब और राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार पर भी गंभीर आरोप लगाए थे। वझे ने अनिल परब और अजित पवार पर 100 करोड़ की जबरन अवैध वसूली रैकेट के भ्रष्टाचार में भागीदार होने का आरोप लगाया था।

एंटीलिया विस्फोटक मामले में विवादित पुलिस इंस्पेक्टर वझे को 13 मार्च को NIA ने हिरासत में लिया था। वहीं गिरफ्तारी के दूसरी दिन वझे को मुम्बई पुलिस की नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया था। जिसके बाद से वझे NIA की हिरासत में है।

अब अदालत ने वझे को 23 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। वहीं वझे के वकील ने अदालत अपील कि है कि, ‘उन्हें सुरक्षित सेल में रखा जाए।

Report by : Rajesh Soni

Also read  : लॉकडाउन से फिर बढ़ी प्रवासी मजदूरों की मुश्किलें, रोजाना 1 लाख यात्री गांव जाने के लिए मजबूर

You May Like

Breaking News