महाराष्ट्र के मुंबई में कोरोना वायरस मरीज़ हुए कम

Maharashtra Corona virus updates: महाराष्ट्र में अब तक का सबसे बड़ा उछाल, 24 घंटे में कोरोना वायरस के 5537 मरीज

मुंबई (Mumbai) जहा कोरोना (Corona) की दूसरी लहर का सामना कर रही थी आज उनके लिए राहत की खबर आई है। मुंबई में कोरोना मरीजों की संख्या में बड़ोत्री होने में पंद्रह महीने से ज्यादा वक्त लगा। मुंबई में कोरोना रेट सुधर कर 477 दिन हो गए । वहीं वृद्धि रेट गिरकर 0.14 प्रतिशत हो गया है। जबकि सुधार रेट 95 प्रतिशत हो गया है। 10 फरवरी 2021 के बाद कोरोना की दूसरी लहर की सुरूवत हुई थी। जिसके जोरदार केस बढ़े और मरने वालों की संख्या में ग्रोथ हुई एवं ऐक्टिव मरीजों की अकड़ा काफी बढ़ गया, जबकि मई के बीच में मुंबई में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में कमी आना शुरू हुआ।

मुंबई में सबसे ज्यादा बदोत्री रेट 975 दिन कालबादेवी एरिया में है। उसके बाद सैंड हर्स्ट रोड का 713 दिन, घाटकोपर का 694 दिन, भायखला का 626 दिन, परेल का 821 दिन, गोवंडी का 623 दिन एवं चेंबूर का 606 दिन है। वडाला,वर्ली, बांद्रा पूर्व, धारावी और मुलुंड एरिया का ग्रोथ रेट 500 दिन से ज्यादा है। वहीं कांदिवली, गोरेगांव, ग्रांट रोड, मालाड, बांद्रा पश्चिम, और अंधेरी पूर्व में ग्रोथ रेट 400 दिन से बढ़ गई है। जबकि सबसे कम 321 दिन दहिसर एरिया का ग्रोथ रेट है। उसके बाद अंधेरी वेस्ट का 391 दिन, बोरीवली एरिया का 373 दिन, कोलाबा का 386 दिन, और भांडुप का 394 दिन है।

एक वक्त मुंबई में कोरोना की बढ़ती रेट ने चिंता बढ़ा रखी थी, लेकिन अब काफी गिरावट हुई है। मुंबई में कोरोना रेट गिरकर 0.14 प्रतिशत हो गई है। सबसे ज्यादा बड़वत्री रेट दहिसर एरिया में 0.22 प्रतिशत है, और सबसे कम कालबादेवी एरिया का 0.07 प्रतिशत है। कोरोना के मामले में यह जगह मुंबई में सबसे सुरक्षित मानी जाती है। उसके बाद सैंड हर्स्ट रोड में 0.10 प्रतिशत, घाटकोपर में 0.10 प्रतिशत, परेल में ग्रोथ रेट सिर्फ 0.08 प्रतिशत, भायखला, गोवंडी और चेंबूर में 0.11 प्रतिशत, वडाला, बांद्रा पूर्व में 0.13 प्रतिशत, मुलुंड और धारावी में 0.12 प्रतिशत,ग्रोथ रेट रह गई है।

मुंबई में सबसे कम कोरोना मरीज सैंडहर्स्ट रोड एरिया में 3804 मिले हैं, जिसमें से 177 की मृत्यू हो गई है। वहीं कांदिवली में कोरोना मरीजों की संख्या 43 हजार 199 तक पहुंच है। जिसमें से 853 की मृत्यू हो गई है। जबकि 1147 ऐक्टिव मरीजों का अब भी काफी अस्पतालों में इलाज चल रहा है। मालाड के मरीजों की संख्या 42 हजार 305 तक पहुंच चुकी है। जिसमें से 896 की मृत्यू हो गई है। ऐक्टिव मरीज जबकि 1201 है।

Report by : Aarti Verma

Also read : क्या उद्धव ठाकरे लॉकडाउन को दिसम्बर तक बढ़ाएंगे?

You May Like

%d bloggers like this: