महाराष्ट्र में बाढ़ के बाद गांवों में दिखा मगरमच्छ का डेरा

महाराष्ट्र में भारी बारिश के बाद प्रदेश के 11 जिले बाढ़ की चपेट में आ गए। वहीं बाढ़ और भूस्खलन का सबसे ज्यादा असर पश्चिम महाराष्ट्र और कोंकण (kokan)के जिले में देखने को मिला है। बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं के कारण लोगों का जीवन बड़े पैमाने पर अस्त-व्यस्त हुआ है। बाढ़ से सिर्फ इंसान नहीं बल्कि जानवर भी प्रभावित हुए हैं।

इसी वजह से पश्चिम महाराष्ट्र के सांगली जिले के कई गांवों में मगरमच्छ घूमते हुए नजर आ रहे हैं। एक गांव में तो मगरमच्छ घरों की छत पर भी घूमते हुए नजर आए। अब बाढ़ का पानी धीरे-धीरे कम होते हुए नजर आ रहा है। लेकिन बाढ़ के पानी में बहकर आये मगरमच्छों ने ग्रामीणों की मुश्किल जरूर बढ़ा दी है।

बता दें कि, ‘राज्य भर में भूस्खलन और बाढ़ के कारण अब तक करीब 200 लोगों की मौत हो चुकी है। इससे पहले कल महाराष्ट्र सरकार की तरफ से बाढ़ ग्रस्तों के लिए मदद का एलान किया गया था। जिसके तहत राज्य सरकार की तरफ से जिन लोगों के घर और दुकानों में पानी घुसा था। ऐसे पीड़ितों को राज्य सरकार 10 हजार रुपयों की फौरन आर्थिक मदद देगी। वहीं अन्य बाढ़ पीड़ितों को राज्य सरकार राशन खरीदने के लिए 5 हजार रुपये देगी। सरकार द्वारा राशन में 10-10 किलो गेंहू/चावल, 5-5 किलो दाल/केरोसिन दिया जाएगा।

 

Reported By – Rajesh Soni

Also Read – उध्दव ठाकरे का शौकिया फोटोग्राफर से सीएम बनने का सफर

You May Like