उद्धव ठाकरे ने दी भाजपा को चुनौती, कहा – हिम्मत है तो मेरी सरकार गिराकर दिखाओ

उद्धव ठाकरे ने दी भाजपा को चुनौती, कहा - हिम्मत है तो मेरी सरकार गिराकर दिखाओ

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को अपनी पार्टी की परंपरागत दशहरा रैली में भाजपा को चुनौती दी कि हिम्मत हो तो मेरी सरकार गिराकर दिखाओ. राज्य में मंदिरों को फिर से खोलने को लेकर कुछ दिनों पहले राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा था. पत्र में राज्यपाल ने उद्धव ठाकरे से पूछा कि क्या वह “अचानक धर्मनिरपेक्ष” हो गए हैं. राज्यपाल के इस पत्र का जवाब उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray)पहले भी दे चुके हैं. (Dussehra Rally In Mumbai)

दशहरा रैली में संघ प्रमुख मोहन भागवत का एक वक्तव्य उद्धत करते हुए उद्धव ने भाजपा पर निशाना साधा. मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने कहा था कि सिर्फ मंदिर, पूजा, अर्चना ही हमारा हिंदुत्व नहीं है. उनके इसी वाक्य का सहारा लेते हुए उद्धव ठाकरे ने भाजपा पर प्रहार किया. उन्होंने सवाल किया कि आज जो लोग हमें हिंदुत्व सिखा रहे हैं, जा बाबरी गिराई गई थी उस समय किसी में बोलने कि हिम्मत नहीं थी?

उद्धव ठाकरे दशहरा रैली में शिवसैनिकों को संबोधित करते हुए, मोहन भागवत के एक और वाक्य को लेकर भाजपा पर बरसे. भागवत ने सुबह कहा था कि राजनीति का मतलब युद्ध नहीं है. उद्धव ने इस पर कहा कि ये बात भाजपा को समझनी चाहिए, जो विपक्ष को खत्म करने में लगे हुए हैं. उन्होंने भाजपा (BJP) और जदयू (JDU) के गठबंधन पर भी निशाना साधा. कुछ दिन पहले बिहार में भाजपा ने नीतीश कुमार को अपना मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर रखा है. इस पर उद्धव ने नीतीश कुमार को शुभकामनाएं दी. फिर उन्होंने भाजपा पर सवाल किया कि क्या संघमुक्त भारत की बात करने वाले नीतीश कुमार अब आपको पसंद आने लगे हैं. नीतीश कुमार हिंदुत्ववादी हो गए हैं या भाजपा धर्म निरपेक्ष हो गई है ? उद्धव ठाकरे ने भाजपा का नाम लिए बिना इशारों में उनपर सरकार गिराने की कोशिश का आरोप लगाया और चुनौती दी कि हिम्मत है तो हमारी सरकार गिराकर दिखाओ. हम बाघ की औलाद हैं। हमें छेड़ोगे तो पछताओगे.

Also Read: महाराष्ट्र में अब सीबीआई को जांच करने से पहले लेना होगा राज्य सरकार से परमिशन

You May Like