राउत ने राणे पर साधा निशाना, कहा-‘यह कोई क्रेडिट की लड़ाई नहीं’

महाराष्ट्र (Maharashtra)में भारी बारिश के कारण बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं ने बड़े पैमाने पर तबाही मचाई है। जिसके कारण अब तक करीब 200 लोगों की मौत हो गई है। जिसके बाद से लगातार बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में सत्ताधारी और विपक्षी दल के नेताओं के दौरे शुरू हो गए हैं। वहीं अब सरकार और विपक्षी दलों के नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप के दौर भी शुरू हो चुके हैं। अब इसको लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत का बयान भी सामने आया है।

राउत ने कहा कि, ‘नियम यह है कि दुनिया भर में ऐसी घटनाएं होने पर बचाव कार्यों में बाधा नहीं आनी चाहिए।लेकिन महाराष्ट्र में भी अगर ऐसी घटनाएं होती हैं, तो आरोप लगाना, राजनीतिक दौरे करना, वहां जाना और अधिकारियों पर आरोप लगाना बंद होना जरूरी है। इस वक़्त सभी को ईमानदारी से प्रयास करने चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि, ‘महाराष्ट्र हमारा है, कोंकण हमारा है, सतारा हमारा है, लोग हमारे हैं, हर कोई सोचता है कि हमें मदद करनी चाहिए, अगर हम कुछ लोगों को इससे बचा सकते हैं, तो किया जाना चाहिए, यह क्रेडिट की लड़ाई नहीं है, अगर किसी को ऐसा लगता है, तो वे अमानवीय कार्य कर रहे हैं।महाराष्ट्र सरकार सक्षम है, मुख्यमंत्री ने अपने लोगों को हर तरह की सहायता और मदद देने के ऐसे आदेश दिए हैं, लेकिन केंद्र की जिम्मेदारी है, महाराष्ट्र केंद्र को सबसे ज्यादा टैक्स देता है।

खासतौर पर मुंबई में हम हिसाब मांगने नहीं बैठे हैं, लेकिन केंद्र हमारे पिता हैं, केंद्र में महाराष्ट्र के कुछ मंत्री हैं, उन्होंने कुछ घोषणाएं की हैं, उन्हें केंद्र से 2,000 करोड़ रुपये का चेक लाना चाहिए, कोई नरेंद्र मोदी द्वारा हस्ताक्षरित एक चेक लाना चाहिए,अगर वह लाते हैं तो हम सब उनका स्वागत करेंगे और कोंकण और सतारा सांगली के लोगों को सौंप देंगे।

Reported By – Rajesh Soni

Also Read –महाराष्ट्र में बाढ़ ग्रस्तों की मदद के लिए ठाकरे सरकार का बड़ा एलान, जानिए क्या दिया ?

You May Like